जिला पदाधिकारी,सहरसा की अध्यक्षता में जिला स्तरीय कृषि टास्क फोर्स की बैठक का आयोजन किया गया।

डीजल अनुदान में सहरसा जिला अंतर्गत 52,223 किसानों को राशि उपलब्ध कराई गई है

समाहरणालय,सहरसा

(जिला जन-सम्पर्क कार्यालय)

प्रेस विज्ञप्ति-58

जिला पदाधिकारी,सहरसा की अध्यक्षता में जिला स्तरीय कृषि टास्क फोर्स की बैठक का आयोजन किया गया।बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी से उर्वरक उपलब्धता एवं वितरण, यात्रीकरण एवं खरीफ आच्छादन की समीक्षा की गई।खरीफ आच्छादन के संबंध में जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि अभी 77 प्रतिशत आच्छादन हो चुका है। डीजल अनुदान में सहरसा जिला अंतर्गत 52223 किसानों को राशि उपलब्ध कराई गई है। उर्वरक छापामारी के संबंध में जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि कुल 144 उर्वरक प्रतिष्ठानों में छापामारी की गई, जिसमें 12 से स्पष्टीकरण पूछा गया है। कृषि यांत्रिकरण योजना 22-23 में कुल वित्तीय लक्ष्य 1.68 करोड़ रुपय के विरुद्ध सहायक निदेशक कृषि अभियंत्रण द्वारा 15.61 लाख लक्ष्य प्राप्त है एवं 25 लाख का विपत्र निकासी हेतु तैयार किया जा रहा है। इस संबंध में जिला पदाधिकारी द्वारा लक्ष्य के अनुरूप उपलब्धि प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया गया।

 

जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि कृषि निदेशालय से प्राप्त निर्देशानुसार सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन 22-23 के कार्यान्वयन हेतु कस्टम हायरिंग सेंटर कृषि यंत्र बैंक खोलने हेतु गांव का चयन किया जाना है,जिस हेतु जिला पदाधिकारी द्वारा इस संबंध में विस्तृत विवरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया।जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि कृषि मंडी विकसित करने हेतु कहरा प्रखंड के बरियाही अवस्थित कृषि फार्म का प्रस्ताव भेजा सकता है।इस संबंध में जिला पदाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि सहरसा में ई-किसान मंडी के ऑनलाइन प्लेटफार्म के लांच के उपरांत भौतिक कृषि मंडी के प्रस्ताव हेतु प्रिलिमनरी प्रपोजल तैयार कर प्रस्तुत किया जाए। परियोजना निदेशक,आत्मा द्वारा बताया गया कि किसान पुरस्कार हेतु 50 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की उपज वाले किसानों को ऑनलाइन आवेदन के माध्यम से इसके पात्र हो सकते हैं।

 

इस संबंध में जिला पदाधिकारी द्वारा आगामी रवी फसल उत्पादन में किसान पुरस्कार प्राप्त करने हेतु किसानों को ऑनलाइन आवेदन के संबंध में अधिकाधिक जानकारी देते हुए प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया गया।जिला पदाधिकारी द्वारा सारे विभाग के पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वैसी योजना जो चतुर्भुज श्रेणी के आवेदकों से संबंधित हो, संबंधित योजना के क्रियान्वयन एवं लक्ष्य की प्राप्ति हेतु जिला कल्याण पदाधिकारी से आवश्यक संबंध स्थापित करते हुए लक्ष्य की प्राप्ति करना सुनिश्चित करें, ताकि संबंधितो को योजना का शत-

 

प्रतिशत लाभ मिल सके। बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी, परियोजना निदेशक, आत्मा, जिला सहकारिता पदाधिकारी, जिला कल्याण पदाधिकारी, जिला सांख्यिकी पदाधिकारी, जिला पशुपालन पदाधिकारी, जिला मत्स्य पदाधिकारी, जिला गव्य पदाधिकारी, प्राचार्य मंडन भारती कृषि महाविद्यालय अगवानपुर,सहायक निदेशक, कृषि अभियंत्रण डी.डी.एम. नाबार्ड,एलडीएम सहरसा, कार्यपालक अभियंता विद्युत, कार्यपालक अभियंता लघु जल संसाधन,कार्यपालक अभियंता, जल संसाधन, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, जीविका ने भाग लिया।

जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, सहरसा।


Mobile News 24

191 Blog posts

Comments